मायावती की कुंडली और उत्तर प्रदेश के २०१७ के चुनाव - भाग 1




मायावती कुंडली चार्ट के मुख्य अंश

1. चंद्र कुंडली ज्यादा लग्न कुंडली से अधिक शक्तिशाली है। दूसरे घर में ग्यारहवें और दसवें प्रभु शुक्र लग्न में भगवान शनि एक शक्तिशाली राज योग बना सकते हैं।
2. चलित भाव कुंडली, शनि और बृहस्पति दोनों ऊंचा राशि पर हैं जोकि उनकी दशाओं को ऊंच ग्रहों के परिणाम दे देंगे।
3. शनि और मंगल ग्रह जो अनुकूल परिणाम देने के लिए उनकी क्षमता को बढ़ाता है पुष्कर नवांस में रखा जाता है।
4. सूर्य वर्गोत्तम लग्न में है, लेकिन पूरी तरह से मजबूत नहीं। यह समय-समय पर सामने आते वित्तीय मुद्दों को इंगित करता है। प्रभु बृहस्पति दूसरे घर में कुछ समस्याए उत्पन कर सकता है।
5. जन्म चार्ट में, आठवें घर में प्रभु वीनस वित्तीय सफलता के लिए अच्छा नहीं है।
6. योग कारक मंगल ग्रह मजबूत है लेकिन पांचवें घर में भगवान शनि और राहु के साथ बैठें हैं।  यह योग मंगल ग्रह के अच्छे परिणाम देने की क्षमता कम कर देता है। पंचधा मैत्री चक्र में, शनि और मंगल ग्रह जानी दुश्मन हैं।
7. मंगल अन्य ग्रहों पर भारी है अच्छे परिणाम देगा। यह योग भगवान शनि और राहु के साथ मिलकर राज योग बनाता है।

8. दूसरे घर में प्रतिगामी बृहस्पति वित्त से संबंधित अच्छे परिणाम नहीं देगा।
9. प्रभु शनि मंगल और राहु के साथ पांचवें घर में विराजमान है जो वैवाहिक जीवन में खुशी से बचाता है और स्वास्थ्य संबंधी समस्याओ को उत्पन करता है। 

Follow me on Twitter Share us on your Facebook wall